क्या अक्टूबर 2017 में ख़तम हो जाएगी दुनिया

0
196

कुछ न्यूज वेबसाइट्स पिछले कुछ समय से दुनिया खत्म होने की भविष्यवाणी कर रहे हैं। कई न्यूज रिपोर्ट्स का दावा है कि दुनिया का अंत आ चुका है। एक वेबसाइट ने लिखा, ‘कुछ ही हफ्तों में हो जाएगा दुनिया का अंत। इसके पहले बाइबल में जो विपत्तियां बताई गई हैं, वे धरती पर अपना असर दिखाने लगेंगी।’ एक अन्य वेबसाइट ने लिखा कि बाइबल में बताई गई 10 विनाशकारी विपत्तियों के अंश धरती पर नजर आने लगे हैं और कुछ हफ्तों में ही दुनिया का अंत हो जाएगा। ये वेबसाइट्स भले ही कुछ भी दावा करें, लेकिन सच यही है कि दुनिया फिलहाल खत्म नहीं होगी।
द इंडिपेंडेंट की खबर के मुताबिक इन मीडिया रिपोर्ट्स ने भी असामान्य दावों के आधार पर खबर बनाई है। जाहिर है, इस तरह के असामान्य दावों की पुष्टि के लिए असामान्य तथ्य भी होने चाहिए। हालांकि दुनिया में कुछ अजीबोगरीब चीजें हमेशा ही होती रहती हैं, लेकिन यह मानना कि ये सारी चीजें दुनिया खत्म होने का संकेत है, बिल्कुल गलत है। इस तरह की सारी रिपोर्ट्स पढ़ने पर आप पाएंगे कि वे सशंकित हैं। दुनिया किस तरह खत्म होगी और इसका कारण क्या होगा, इस बारे में ये रिपोर्ट्स ज्यादा जानकारी नहीं देते। ज्यादातर दावों का आधार ‘प्लैनेट एक्स- द 2017 अराइवल’ नाम की एक किताब है। इस किताब के लेखक डेविड मिडे हैं। डेविड का दावा है कि अक्टूबर 2017 में दुनिया का अंत हो जाएगा।

डेविड के मुताबिक, हमारे सौर मंडल में प्लैनेट एक्स या फिर निबिरू नाम का एक बहुत बड़ा ग्रह है। यही ग्रह जल्द ही धरती से टकराने वाला है। ऐसा होने पर पृथ्वी पर मौजूद चीजें पूरी तरह से नष्ट हो जाएगीं। यह पूरा दावा ही तथ्यात्मक रूप से पूरी तरह गलत है। पहली बात तो यह कि निबिरू नाम का कोई ग्रह है ही नहीं। यह भी तय है कि कोई ग्रह पृथ्वी से नहीं टकराने वाला है। अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा पहले भी इन दावों का खंडन कर चुकी है।नासा ने 2012 में ही कह दिया था कि निबिरू या फिर कोई भी और ग्रह हाल-फिलहाल धरती से नहीं टकराएगा। नासाने अपनी वेबसाइट पर लिखा था, ‘अगर निबिरू या फिर प्लैनेट एक्स सच में हैं और धरती से टकराने वाले हैं, तो अंतरिक्षयात्रियों को कम से कम इसकी जानकारी मिल गई होती। अंतरिक्षयात्रियों ने एक दशक पहले ही इसे देख लिया होता। और अब तक तो यह हम लोगों को अपनी नंगी आंखों से भी दिखने लगता। जाहिर है, ऐसा कुछ नहीं होने वाला है।’
2012 में निबिरू या प्लैनेट एक्स धरती से नहीं टकराए, लेकिन फिर भी लोग इसके बारे में लिखते रहे। अब डेली स्टार ने अपनी एक खबर में बताया है कि लोग एक बार फिर इस संभावना पर बातें कर रहे हैं। उनका कहना है कि हालात इस दफा पहले से अलग हैं। लोगों का कहना है कि बाइबल में दुनिया खत्म होने से पहले के जो कुछ संकेत बताए गए हैं, उनमें से कई अब सही साबित होते दिख रहे हैं। रूस में टिड्डियों के झुंड का आक्रमण ऐसा ही एक संकेत बताया जा रहा है। लेकिन ये दावा करने वाले भूल जाते हैं कि टिड्डियों का आतंक तो हर साल होता है। जलवायु परिवर्तन के कारण टिड्डियों का आक्रमण और ज्यादा हो रहा है। 21 अगस्त को होने वाले सूर्य ग्रहण को भी कई लोग दुनिया के खात्मे से जोड़कर देख रहे हैं। दुनिया की संस्कृतियों में लंबे समय से ग्रहण को लेकर कई गलतफहमियां रही हैं, लेकिन विज्ञान साबित कर चुका है कि ये असल में गलतफहमियां ही हैं। वैज्ञानिक तौर पर देखें, तो इस धरती का खत्म होना तय है। एक न एक दिन दुनिया यकीनन खत्म होगी, लेकिन ऐसा कब होगा यह बता पाना नामुमकिन है।
फोटो प्रतीकात्मक है