प्रेसिडेंसी कॉलेज: लेडिज़ टॉइलट में छात्रा की एंट्री रोकी!

0
48

कोलकाता =कोलकाता के प्रेसिडेंसी कॉलेज में एक अजीबोगरीब घटना सामने आई है, जहां कॉलेज प्रशासन के एक फैसले के विरोध में बैठी एक छात्रा को तीन दिनों तक टॉइलट का यूज नहीं करने दिया गया। गर्ल्स टॉइलट का यूज नहीं करने देने की वजह से उसे मजबूरन पुरुषों के टॉइलट का इस्तेमाल करना पड़ा। यूनिवर्सिटी की वाइस चांसलर ने इस आरोप का खंजन किया है।
ऐड समय डॉट कॉम की खबर के मुताबिक कॉलेज की छात्रा रिद्धिब्रता साहा को जरुरी 75 प्रतिशत नंबर नहीं होने की वजह से फाइनल सेमेस्टर की परीक्षाओं में नहीं बैठने दिया गया। इस फैसले के विरोध में वह प्रदर्शन करते हुए वह अनशन पर बैठ गई। उसने कहा, ‘मेरा नाम उन स्टूडेंट्स की लिस्ट में नहीं था, जिन्होंने अटेन्डेंस की वजह से सेमेस्टर एग्जाम मिस किया। प्रशासन से संपर्क करने पर मुझे वाइस चांसलर से बात करने को कहा गया।’
रिद्धिब्रता ने वीसी से मिलने से इंकार कर दिया। उन्होंने कहा, ‘यह कोई नियम नहीं है। मैं उनसे क्यों मिलूं? इसलिए मैंने कॉलेज प्रशासन के इस फैसले के खिलाफ प्रदर्शन शुरू कर दिया। आज अनशन का 6वां दिन है। बुधवार से लेकर शनिवार तक मुझे टॉइलट में नहीं घुसने दिया गया। मुझे मजबूरन पुरुषों का टॉइलट इस्तेमाल करना पड़ा।’
इधर यूनिवर्सिटी प्रशासन ने ऐसे किसी भी आरोप से इंकार किया है। रजिस्ट्रार देबोज्योति कोनार ने कहा, ‘हम केवल यूनिवर्सिटी के नियमों को फॉलो कर रहे हैं। अगर किसी को इससे समस्या है तो वह कोर्ट में अपील कर सकता है।’ वीसी लोहिया ने कहा कि वह ऐसे किसी भी हंगर स्ट्राइक से ब्लैकमेल नहीं होंगी।