इंदू सरकार पर बढ़ा विवाद -भंडारकर को मिली पुलिस सुरक्षा

0
37

मुंबई = अपनी रिलीज़ से पहले ही मधुर भंडारकर की फिल्म ‘इंदु सरकार’ पर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। एक तरफ जहां कांग्रेस कार्यकर्ता इस फिल्म के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं वहीं सेंसर बोर्ड ने भी इस फिल्म में प्रयोग किए गए कई शब्दों पर आपत्ति जताई है।
‘इंदु सरकार’ पर बढ़ते विवाद को देखते हुए मुंबई पुलिस ने डायरेक्टर मधुर भंडारकर को विशेष सुरक्षा मुहैया कराई है। रविवार को कांग्रेस कार्यकर्ताओं के विरोध के चलते नागपुर में इस फिल्म की प्रेस कॉन्फ्रेंस रद्द करनी पड़ी थी। इससे पहले पुणे में भी इस फिल्म की प्रेस कॉन्फ्रेंस में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने काफी हंगामा किया था।
इंडियन यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने इस फिल्म का विरोध करते हुए सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन (सेंसर बोर्ड) के चीफ पहलाज निहलानी से भी मुलाकात की है। यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं का आरोप है कि फिल्म में इंदिरा गांधी की गलत इमेज दिखाई गई है। हालांकि अभी तक उन्होंने यह फिल्म नहीं देखी है।
सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष पहलाज निहलानी ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं की फिल्म पर बैन लगाने की मांग पर कहा है कि वह किसी फिल्म को सिर्फ इसलिए बैन नहीं कर सकते क्योंकि कांग्रेस पार्टी उसका विरोध कर रही है। उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘किसी फिल्म को बैन करना मेरी जिम्मेदारी नहीं है। सेंसर बोर्ड केवल किसी फिल्म को सर्टिफिकेट देता है। अगर इस फिल्म से किसी को कई भी दिक्कत है तो ट्रिब्यूनल में जा सकता है।’