बीजेपी नेताओ को निर्देश जंहा भी जाए दलित के घर खाना खाएं

0
150

नई दिल्ली =बीजेपी ने अपने मंत्रियों और सीनियर पार्टी पदाधिकारियों से कहा है कि वे जिस भी राज्य में जाएं, वहां दलितों के साथ बातचीत करें और उनके घर भोजन करें। पार्टी यह कवायद इसलिए कर रही है कि सहारनपुर घटना से दलितों के बीच उपजी नाराजगी को दूर किया जा सके।
बीजेपी सूत्रों के मुताबिक, हालांकि इसकी शुरुआत पहले ही पार्टी अध्यक्ष अमित शाह कुछ राज्यों में दलितों के घर भोजन करके कर चुके हैं। लेकिन अब पार्टी के सीनियर नेताओं, पदाधिकारियों और केंद्रीय मंत्रियों से कहा गया है कि मोदी सरकार के तीन साल के जश्न के सिलसिले में वे जिस भी राज्य में जाएं, वहां दलितों के घर जाकर भोजन जरूर करें।
पार्टी सूत्रों का कहना है कि गुरुवार को केंद्रीय संस्कृति राज्यमंत्री डॉ. महेश शर्मा ओडिशा में थे और उन्होंने भी दलित के घर जाकर भोजन किया। पार्टी सूत्रों के मुताबिक, पार्टी चाहती है कि दलितों के बीच यह मेसेज जाए कि न सिर्फ मोदी बल्कि उनकी पूरी पार्टी दलितों के हितों के लिए तत्पर है।
पार्टी को लगता है कि आने वाले चुनाव में वह न सिर्फ अल्पसंख्यकों बल्कि दलितों के मामले में भी यह मिथ तोड़ना चाहती है कि दलितों में उसकी पकड़ नहीं है। यूपी में जिस तरह से दलितों का उसे वोट मिला है, ऐसे में पार्टी नहीं चाहती कि किसी वजह से उसके साथ आ रहे दलित वोटर फिर से दूर हों।