विजेता पंडित ने दिया रामानंद सागर के बेटे को नोटिस = कहा पैसा हड़प लिया

0
817

मुंबई =संगीतकार स्वर्गीय आदेश श्रीवास्तव की विधवा अभिनेत्री विजयता पंडित ने मशहूर फिल्म निर्माता रामानंद सागर के बेटे मोती सागर को अदालत में घसीटने की धमकी दी है। विजयता का दावा है कि मोती उनके बकाया 1.65 करोड़ रुपये उन्हें नहीं दे रहे हैं। विजयता ने इस संबंध में मोती को एक नोटिस भी भेजा है। इसमें कहा गया है कि फरवरी 2015 में जब आदेश जिंदा थे, तब उन्होंने लोखंडवाला स्थित एक बंगले को खरीदने के लिए 1.65 करोड़ रुपये की टोकन राशि मोती को दी थी। नोटिस में कहा गया है कि चूंकि यह सौदा कभी आगे नहीं बढ़ा और इसे किसी और को बेच दिया गया, इसीलिए वह रकम विजयता को वापस की जानी चाहिए।
उधर मोती सागर का कहना है कि उनके ऊपर विजयता का कोई पैसा बाकी नहीं है। अपने ऊपर लगाए गए आरोपों से इनकार करते हुए मोती ने कहा है कि उल्टा आदेश ने ही 2 करोड़ 28 लाख रुपये उनसे उधार लिए थे। उन्होंने कहा, ‘मेरे ऊपर आदेश और विजयता का कोई पैसा बाकी नहीं है। उनके ऊपर मेरा जो बकाया है, उसे वसूलने के लिए मैं जल्द ही एक केस दर्ज कराऊंगा।’
सितंबर 2015 में विजयता के पति आदेश श्रीवास्तव की मौत हुई थी। विजयता ने मोती सागर द्वारा लगाए गए आरोपों से इनकार करते हुए दावा किया कि जब आदेश जिंदा थे, तब भी मोती पैसे लौटाने की बात को टाल रहे थे। उन्होंने कहा, ‘जब मेरे पति गुजर गए, तो उन्होंने मेरा फोन उठाना भी बंद कर दिया। मैं उनके दफ्तर गई और घंटों तक वहां बैठकर उनसे मिलने का इंतजार करती रही, लेकिन हर बार मुझे बिना उनसे मिले ही लौटना पड़ा। यह मेरे पति की गाढ़ी कमाई के पैसे हैं और इसे वापस लेने के लिए मैं पूरा जोर लगा दूंगी।’
विजयता का दावा है कि मोती सागर उन्हें इस पैसे के बदले बड़ौदा स्थित एक जमीन देने की पेशकश कर रहे हैं। उधर मोती का कहना है कि यह जमीन सौदे का हिस्सा थी और इसे आदेश के नाम पर ट्रांसफर किया जा चुका है। उन्होंने कहा, ‘आदेश या उसके परिवार का एक भी रुपया मुझपर बकाया नहीं है।’ विजयता का कहना है कि बड़ौदा की जमीन उनके किसी काम की नहीं है। उन्होंने कहा कि इस जमीन का एक हिस्सा किसी और का है और बिना उसकी सहमति के जमीन को बेचा नहीं जा सकता है। विजयता ने कहा, ‘मुझे पैसों की जरूरत है। मैं कमा नहीं रही हूं और मुझे अपने दोनों बच्चों की परवरिश करनी है।’ मोती सागर का कहना है कि जब उनके और आदेश के बीच बड़ौदा की जमीन का सौदा हुआ था, उस समय इस जमीन से जुड़ी शर्तों और स्थितियों के बारे में भी साफ-साफ बता दिया गया था। उन्होंने कहा, ‘आदेश को पता था कि जमीन का एक हिस्सा किसी और का है। अगर विजयता को इसे बेचने में परेशानी हो रही है, तो यह उसकी मुश्किल है। मुझे इसके लिए जिम्मेदार नहीं माना जाना चाहिए।’उल्लेखनीय है की मोती सागर धारावाहिक टीवी सीरियल रामायण बनाने वाले निर्माता रामानंद सागर के बेटे है