इकतीस मई से बदलेंगे गुरू

0
73

आगामी एकतीस मई से ग्रहों का राजा गुरू मिथुन राशी में प्रवेश कर रहा है जो वहां तकरीबन चौदह महीने रहेगा गुरू के इस परिवर्तन का विभिन्न राशियों पर असर पड़ेगा जो इस प्रकार होगा
मेष- मेष राशि वालों को स्वास्थ्य के मामले में अधिक सजग रहना होगा। रोग को हल्के में नहीं लें, जो लोग लंबे समय से बीमार चल रहे हैं उन्हें समय-समय पर चिकित्सक से परामर्श लेते रहना चाहिए। निराशा और नकारात्मक भावों को अपने ऊपर हावी नहीं होने दें। आर्थिक दृष्टि से भी गुरू का यह गोचर अनुकूल नहीं है। इस दौरान आपको आर्थिक फैसले सोच-समझ कर लेने होंगे। निवेश करते समय सावधानी बरतें।
लाह है कि व्यय पर नियंत्रण रखें और आर्थिक मामलों में किसी प्रकार का जोखिम नहीं लें। नौकरी में लापरवाही से बचें और अपनी जिम्मेदारियों का पालन करें। सहकर्मियों एवं उच्चाधिकारियों से तालमेल बनाए रखें अन्यथा कार्यक्षेत्र में परेशानी आ सकती है। छात्रों को शिक्षा में बाधाओं का सामना करना पड़ सकता है। सफलता के लिए विशेष परिश्रम करना होगा।
मान-सम्मान का ध्यान रखें, अपयश मिल सकता है। जीवनसाथी के स्वास्थ्य का ध्यान रखना होगा। बच्चों से संबंधित मुद्दे भी परेशान करेंगे। पारिवारिक जीवन में आपसी सामंजस्य बनाए रखने का प्रयास करें। क्रोध और वाणी पर नियंत्रण रखें।
वृष- गुरू का आपकी राशि से निकलकर मिथुन में जाना लाभप्रद रहेगा। मानसिक एवं शारीरिक परेशानियों में कमी आएगी। स्वास्थ्य सामान्य रूप से अच्छा रहेगा। उल्लासित और प्रसन्न रहेंगे। घर में मांगलिक कार्य होंगे। विवाह योग्य युवक-युवतियों की शादी हो सकती है।
जो लोग विवाहित हैं उनके दांपत्य जीवन में प्रेम और आपसी सद्भाव बढ़ेगा। संतान की इच्छा रखने वालों की मनोकामना पूरी हो सकती है। सामाजिक मान-प्रतिष्ठा में वृद्घि होगी। ज्ञान और बोलने की क्षमता का लाभ मिलेगा। आर्थिक दृष्टि से गुरू का गोचर शुभ फलदायी है।
आय के साधनों में वृद्घि होगी। चल-अचल संपत्ति एवं भौतिक सुख-सुविधाओं में वृद्घि होगी। कैरियर में उन्नति का मौका मिल सकता है। जो लोग नौकरी पाने के लिए प्रयास कर रहे हैं उन्हें सफलता मिलेगी। कार्यक्षेत्र में मान-सम्मान एवं पुरस्कार मिल सकता है। मनोनुकूल स्थानांतरण संभव है।
मिथुन- गुरू का यह गोचर आपके लिए मिलजुला फल देने वाला रहेगा। सलाह है कि गैर जरूरी मामलों से अपने को दूर रखें अन्यथा मानसिक तनाव बढ़ेगा। अपने अंदर उत्साह की कमी महसूस करेंगे। धर्म-कर्म एवं दर्शन में रूचि बढ़ेगी।
कभी-कभी अकारण ही उदास रह सकते हैं। कोई अनजाना भय सता सकता है। स्वास्थ्य में उतार-चढ़ाव बना रह सकता है। दांपत्य जीवन में आपसी तालमेल की कमी रह सकती है। लेकिन विवाह के इच्छुक युवक युवतियों की की शादी हो सकती है।
घर के किसी बुजुर्ग की सेहत को लेकर चिंतित रहेंगे। विरोधी सक्रिय रहेंगे, पुराने शत्रुओं से सावधान रहें। आर्थिक दृष्टि से गुरू का गोचर सामान्य रहेगा। आय में कमी नहीं होगी लेकिन आकस्मिक व्यय के कारण धन संचय नहीं हो पाएगा। कार्य क्षेत्र में अधिकारियों से तालमेल बनाए रखें। स्थानांतरण की संभावना है। अपने मान-सम्मान का ध्यान रखें।
कर्क – गुरू आपकी राशि से बारहवें स्थान में होगा जो अनुकूल स्थिति नहीं है। तनाव एवं चिंता में वृद्धि होगी। स्वास्थ्य में उतार-चढ़ाव बना रहेग। जो लोग बीमार हैं उन्हें इस अवधि में अधिक सजग रहना होगा। सगे-संबंधियों के विरोध का सामना करना होगा।
पारिवारिक जीवन में संतान एवं जीवनसाथी को लेकर चिंतित रहेंगे। अपने व्यवहार में नम्रता लाएं और कठोर शब्दों के प्रयोग से बचें अन्यथा अपमानित होना पड़ सकता है। व्यय पर नियंत्रण रखें अन्यथा बजट प्रभावित होगा। व्यवसायियों को कारोबार में लाभ की कमी एवं अन्य प्रकार की समस्याओं का सामना करना होगा।
नौकरी पेशा लोगों के अधिकारियों से मतभेद संभव हैं। मेहनत के अनुरूप सफलता नहीं मिलने से छात्र निराश हो सकते हैं। धन का निवेश समझदारी से करें।
सिंह – गुरू आपके लिए शुभ फलदायक रहेंगे क्योंकि यह आपकी राशि से ग्यारहवें स्थान पर होंगे। स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं में कमी आएगी। जो लोग पहले से बीमार हैं उनके स्वास्थ्य में सुधार होगा। मानसिक चिंताओं में कमी आएगी। सामाजिक मान-प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। परिवार में मांगलिक कार्य हो सकता है।जिन लोगों के दांपत्य जीवन में परेशानी चल रही है उनके बीच आपसी तालमेल बढ़ेगा। पति-पत्नी के रिश्ते मजबूत होंगे। विवाह योग्य युवक-युवतियों की शादी हो सकती है। सगे-संबंधियों से भरपूर सहयोग मिलेगा। संतान सुख की इच्छा पूरी होगी।आर्थिक दृष्टि से समय अच्छा रहेगा। विभिन्न स्रोतों से धन का लाभ मिलेगा एवं व्यय पर नियंत्रण रख पाएंगे। संचित धन बढ़ेगा। कहीं से रूका हुआ धन मिल सकता है। अधिकारियों से भरपूर सहयोग मिलेगा। नौकरी में पदोन्नति एवं वेतन बढ़ेगा। प्रतियोगिता परीक्षाओं में सफलता की संभावना प्रबल है, मौके का लाभ उठाएं।
वृश्चिक- सेहत के मामले में आपको लापरवाही से बचना होगा। खान-पान में तैलीय एवं मसालेदार पदार्थों का प्रयोग कम करें। उदार संबंध रोग से कष्ट हो सकता है। मानसिक तौर पर उलझन में रहेंगे। निराशात्मक विचारों को अपने ऊपर हावी नहीं होने दें अन्यथा आपकी कार्यक्षमता और स्वास्थ्य पर विपरीत असर पड़ेगा।इन दिनों धर्म-कर्म पर ध्यान देना लाभप्रद रहेगा। मादक पदार्थों एवं अनीतिपूर्ण कार्य से दूर रहें अन्यथा मान-सम्मान की हानि होगी। समाज में छवि धूमिल हो सकती है। किसी निकट संबंधी के स्वास्थ्य को लेकर चिंतित रहेंगे। पारिवारिक जीवन में तनाव बढ़ेगा।
इस राशि के व्यक्ति साढ़ेसाती के प्रभाव में हैं और गुरू आपकी राशि से आठवें होंगे। यह स्थिति आर्थिक दृष्टि से अनुकूल नहीं है। धन-संपत्ति से जुड़े फैसले सावधानी पूर्वक लें। उधार के लेन-देन से बचें। किसी को दिया गया पैसा मिलने में कठिनाई आएगी। जमा पूंजी खर्च करनी पड़ सकती है।नौकरी करने वालों को अधिकारियों से तालमेल बनाए रखना चाहिए। काम का दबाव बढ़ेगा। कार्यक्षेत्र में उतावलेपन एवं लापरवाही से बचना चाहिए।
धनु- गुरू का यह गोचर आपके लिए शुभ फलदायी रहेगा। स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों में कमी आएगी। उत्साह और उर्जा से भरपूर रहेंगे। इसका असर आपकी कार्यक्षमता पर भी पड़ेगा।करियर में उन्नति का की ओर अग्रसर होंगे। जो लोग पदोन्नति के इंतजार में हैं उन्हें इस संबंध में अच्छी ख़बर मिल सकती है। कार्यक्षेत्र में महत्व एवं सम्मान बढ़ेगा। व्यवसायियों को कारोबार में वृद्घि का मौका मिलेगा।
आय के साधनों में वृद्घि होगी। चल-अचल संपत्ति का लाभ मिल सकता है। कही से अटका हुआ धन मिल सकता है। भौतिक सुख के साधनों में वृद्घि होगी। शुभ कार्यों पर धन खर्च होगा।सामाजिक एवं पारिवारिक जीवन में गुरू का शुभ प्रभाव बना रहेगा। संतान सुख की कामना पूरी होगी। अविवाहित हैं तो शादी के योग बनेंगे।
मकर -जन्मपत्री का छठा घर रोग स्थान होता है। गुरू का आपकी राशि से छठे स्थान में होना स्वास्थ्य के लिए अनुकूल स्थिति नहीं है। तैलीय पदार्थों के सेवन में कमी लाएं अन्यथा पेट संबंधी रोग के कारण परेशान रहेंगे। मामा अथवा मौसी को तकलीफ हो सकती है।
मातृपक्ष से सहयोग में कमी आएगी। पारिवारिक जीवन में तनाव बढ़ सकता है। सलाह है कि जीवनसाथी से अनावश्यक वाद-विवाद में नहीं उलझें। माता के स्वास्थ्य का ध्यान रखना होगा। विरोधियों से सावधान रहें। आर्थिक मामलों में परेशानी रहेगी। आकस्मिक खर्चे बढ़ेंगे, बजट को संभालने के लिए कर्ज लेना पड़ सकता है।
भौतिक सुख-सुविधाओं में कमी का सामना करना पड़ सकता है। कैरियर की दृष्टि से यह समय सामान्य रहेगा। इन दिनों नौकरी में बदलाव करने की सोच रहे हैं तो सावधानी से फैसला लें। नये स्थान में तालमेल बैठाने में कठिनाई आएगी। छात्रों को पढ़ाई पर विशेष ध्यान देना होगा।
कुंभ – आर्थिक दृष्टि से यह समय शुभ फलदायक रहेगा। विभिन्न स्रोतों से धन का आगमन होने से आर्थिक चिंताएं दूर होंगी। बचत बढ़ेगा और भौतिक सुख-सुविधाओं में भी वृद्घि होगी। धन का निवेश करने के लिए यह समय अनुकूल है। भविष्य में इसका लाभ मिलेगा। कैरियर और व्यवसाय की दृष्टि से भी यह समय सुखद है।नौकरी पेशा लोगों को पदोन्नति एवं मान-सम्मान मिलेगा। अधिकारी वर्ग आपके काम से खुश रहेंगे और इनका पूरा समर्थन मिलेगा। पारिवारिक जीवन सुखमय होगा। सगे-संबंधियों से रिश्ते मजबूत होंगे। जीवनसाथी अथवा निकट संबंधी के साथ यात्रा पर जा सकते हैं। मित्रों की संख्या में वृद्घि होगी।
पढ़ने-लिखने में छात्रों में रूचि बढ़ेगी। इसका इन्हें अच्छा परिणाम भी प्राप्त होगा। जो लोग जमीन अथवा मकान खरीदने के प्रयास में लगे हुए हैं उन्हें इस मामले में कामयाबी मिलेगी। स्वास्थ्य सामान्य रूप से अच्छा रहेगा
मीन- गुरू का यह गोचर आपके लिए सामान्य फलदायक रहेगा। स्वास्थ्य का थोड़ा ध्यान रखें। मौसम में बदलाव के समय सेहत का विशेष ध्यान रखना होगा। विवाह योग्य युवक-युवतियों की शादी हो सकती है लेकिन जो लोग पहले से विवाहित हैं उनके दाम्पत्य जीवन में तालमेल की कमी रहेगी। किसी रिश्तेदार के यहां से कष्टप्रद समाचार मिल सकता है। जमीन-जायदाद को लेकर सगे-संबंधियों से मतभेद होगा। माता के स्वास्थ्य को लेकर चिंतित होंगे। आर्थिक लाभ के मौके कम मिलेंगे जबकि खर्च में वृद्घि होगी। इससे बजट प्रभावित होगा। धन का निवेश सोच-समझकर करें अन्यथा नुकसान हो सकता है।
नौकरी पेशा लोगों को अपने कार्य के प्रति गंभीर रहना चाहिए। कार्यक्षेत्र में लापरवाही से बचें। अधिकारियों से विवाद में उलझने की बजाय तालमेल बनाए रखना आपके हित में होगा। नौकरी में कोई बड़ा फैसला नहीं लें, जैसे चल रहा है उसमें खुद को ढालने का प्रयास करें। छात्रों को शिक्षा में आकस्मिक बाधाओं का सामना करना पड़ सकता है।

अमर उजाला से साभार