सरकार बनते ही नीतीश कुमार की पार्टी में सामने आई नाराजगी

1
170

पटना -लालू-राबड़ी और नीतीश सरकार में अहम मंत्री रहे श्याम रजक शुक्रवार को शपथ ग्रहण समारोह में शामिल नहीं हुए। बताया जा रहा है कि वह नई सरकार में मंत्री नहीं बनाए जाने से नाराज हैं। जब उनसे पत्रकारों ने पूछा कि क्या वह शपथ ग्रहण समारोह में नहीं जा रहे हैं तो उन्होंने कहा कि नहीं पूरा कार्यक्रम टीवी पर देखूंगा। उनसे पूछा गया कि क्या वह मंत्री नहीं बनाए जाने से नाराज हैं तो रजक ने कहा कि नहीं मुझे नीतीश के नेतृत्व में पूरा भरोसा है।

श्याम रजक नीतीश सरकार में खाद्य मंत्री थे। उन्होंने 1974 में बिहार की राजनीति में कदम रखा था। जेडीयू में आने से पहले वह लालू की पार्टी राष्ट्रीय जनता दल में थे। श्याम रजक राष्ट्रीय जनता दल के राष्ट्रीय प्रवक्ता और महासचिव रहे थे। 2009 के चुनाव में हार के बाद आरजेडी में लालू के नेतृत्व के खिलाफ व्यापक विद्रोह हुआ था। उसी दौरान श्याम रजक ने नीतीश का दामन थाम लिया था।

श्याम रजक जेडीयू में अहम दलित चेहरा हैं। वह पटना में फुलवारीशरीफ रिजर्व सीट से चुनाव लड़ते हैं। श्याम रजक ने यहां से पांचवीं बार चुनाव जीता है। महागठबंधन की सरकार में इस बार कई नए चेहरों को शामिल किया गया है। जाहिर है इस सरकार में आरजेडी सबसे बड़ी पार्टी है। उसके सबसे ज्यादा विधायक हैं। लालू के दोनों बेटों को मंत्री बनाया गया है। इस सरकार में कांग्रेस को भी शामिल किया गया है