अमूल के विज्ञापन पर लिंगभेद का आरोप

0
849

नई दिल्ली -अमूल के विज्ञापन अक्सर वर्तमान विषयों पर आधारित बेहतरीन विज्ञापन माने जाते हैं पर इस बार वह विवादों में घिरता दिख रहा है।
19 सिंतबर को अमूल ने अपनी पांचवी डिजिटल फिल्म लॉन्च की थी, जिसे हर घर अमूल घर थीम पर बनाया गया था।जब यह विज्ञापन लाइव हुआ तो ग्राहकों के साथ-साथ बाजार जगत में भी इसकी खासा चर्चा हुई। जीसीएमएमएफ ने उन आरोपों को सिरे से नकार दिया कि इसमें लिंगभेद दिखाया गया हैएचडीएफसी लाइफ के सीनियर वीपी संजय त्रिपाठी ने जीसीएमएमएफ के प्लानिंग एवं मार्केटिंग जीएम जयेन मेहता को टैग किया और लिखा कि इस ऐड को कृपया रोकिए।यूट्यूब पर एक यूजर ने लिखा कि अमूल ने लिंगभेद को बढ़ावा दिया और उसी पुरानी सोच को लोगों के सामने पेश कर दिया।
इस विज्ञापन में एक छोटी सी लड़की घर में नन्हें भाई के आने को लेकर खूब उत्साहित होती है पर विरोध करने वाले लोगों के मुताबिक घटनाक्रम कुछ यूं आगे बढ़ता है, जिससे लगता है कि लड़के को लड़की से ज्यादा महत्व दिया जा रहा है।एक यूजर ने कहा कि प्रगतिशील भारत में किसी विज्ञापन के द्वारा ऐसी छवि पेश करना वाकई शर्मनाक है। हालांकि जीसीएमएमएफ के एमडी आर.एस.सोढ़ी ने इसे बेहतरीन फिल्म बताया।